असम के भाजपा विधायक अमीनुल हक लश्कर को दो कारतूसों के साथ धमकी भरा पत्र मिलने के बाद अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी है। पत्र में विधायक को मुस्लिम होने के नाते भाजपा छोड़ने का निर्देश दिया गया है। पुलिस ने बताया कि कछार के सोनाई के विधायक लश्कर को कम जाने पहचाने संगठन 'सेव सिक्योर एंड डेवलपेमेंट प्रोटेक्शन फोर्स ऑफ मुस्लिम, बराक वैली जोन’ से यह चिट्ठी मिली है।

 

सिलचर के थाना प्रभारी इंद्रजीत चक्रवर्ती ने कहा, ''हमने रविवार को लश्कर को धमकी भरा पत्र भेजने को लेकर अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की है। लिफाफे में पिस्तौल की दो गोलियां भी हैं।’’ अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध भादंसं की धारा 153 ए (धर्म, जाति आदि के आधार पर वि भिन्न समुदायों के बीच दुश्मनी बढ़ाना) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत मामला दर्ज किया गया है। विधायक ने कहा, ''मुझे डाक से पत्र मिला। इसमें कहा गया है कि भाजपा और आरएसएस सांप्रदायिक संगठन हैं तथा वे मुसलमानों के विरुद्ध काम कर रहे हैं। अतएव मुसलमान होने के नाते मुझे पार्टी में नहीं रहना चाहिए।'' उन्होंने कहा कि पत्र में उनसे 15 दिन के अंदर पार्टी छोड़ने को कहा गया है।

 

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े