आयोध्या के राम मंदिर मुद्दे पर पूरे देश की राजनीति गरमाई हुई है। पक्ष विपक्ष की बयानबाजी के चलते ये मुद्दा और तूल पकड़ता जा रहा है। वहीं विश्व हिन्दू परिषद् के पूर्व अध्यक्ष प्रवीण तोगड़ियां ने भी इस पर बयान देकर आग में घी डालने का काम कर दिया है। उन्होंने मोदी सरकार को अल्टीमेटम दिया कि अगर विजयदशमी तक केंद्र सरकार अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए कानून नहीं लाती तो लखनऊ से आयोध्या कूच किया जाएगा।

उन्हाेंने माेदी सरकार पर वादाखिलाफी का आराेप लगाते हुए कहा कि भाजपा ने चुनाव से पहले कहा था कि अगर बीजेपी पूर्ण बहुमत से सरकार में आती है तो कानून बनाकर राम मंदिर का निर्माण कराएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इससे हिंदू दुःखी हैं।

हरदोई के गांधी मैदान में अपने नए संगठन का विस्तार करने आए तोगड़िया ने कहा कि जो राम से खिलवाड़ करता है, भगवान से जुमला बाजी करते हैं उनकी कोई पीढ़ियां जिंदा नहीं रहती हैं। अभी भी समय बचा है। साथ ही  उन्हाेंने कहा कि हम ना प्राइम मिनिस्टर शिप मांग रहे हैं, आैर न ही एमएलए, एमपी की नौकरी ।  मैं तो आपके दिए हुए वचन पर भगवान राम का जन्म स्थान मांग रहा हूं। 
 

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े