जम्मू-कश्मीर में बालटाल और नुनवान पहलगाम शिविर से 11,000 तीर्थयात्रियों का जत्था मंगलवार को पवित्र अमरनाथ गुफा के लिए रवाना हो गया।  अब तक 1,04,000 से अधिक तीर्थयात्री बाबा बर्फानी के दर्शन कर चुके हैं।  जम्मू से आज सुबह तीर्थ यात्रियों का एक जत्था बालटाल और नुनवान शिविर के लिए रवाना हुआ जिसमें महिलाएं और साधु भी शामिल हैं। तीर्थयात्रा सामान्य रूप से चल रही थी लेकिन बारिश के बाद भूस्खलन और सडक़ पर फिसलन के कारण यह प्रभावित हुई। एक आधिकारी ने  बताया कि 60 दिन तक चलने वाली इस वार्षिक तीर्थयात्रा के 12वें दिन सोमवार रात तक 9,609 यात्री  दर्शन कर चुके थे।उन्होंने बताया कि अलग-अलग स्थानों पर बने विश्राम शिविरों में रात में ठहरे तीर्थयात्री मंगलवार सुबह पवित्र गुफा के दर्शन के लिये पहुंच रहे हैं।  अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को जम्मू से पहुंचे करीब 5000 से अधिक तीर्थयात्रियों का जत्था आज सुबह नुनवान पहलगाम शिविर से चंदनवाड़ी के लिए रवाना हो गया।  इस बीच चंदनवाड़ी और अन्य जगहों पर विश्राम शिविरों में रात में ठहरे तीर्थयात्री आज सुबह गुफा के दर्शन के लिए रवाना हो गये।  उन्होंने कहा कि आज सुबह करीब 6,000 तीर्थ यात्री बालटाल शिविर से भी गुफा के दर्शन के लिए रवाना हुये। तीर्थयात्रियों का सबसे छोटे 14 किलोमीटर के पहाड़ी रास्ते का सफर तय कर आज अपराह्न पवित्र गुफा तक पहुंचने का कार्यक्रम है। गुफा के आसपास शिविरों में ठहरे अधिकांश तीर्थयात्री आज सुबह गुफा के दर्शन कर वापस लौटने लगे हैं।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े