सुप्रीम कोर्ट 2008 के आरुषि हत्याकांड में दंत चिकित्सक राजेश तलवार और नूपुर तलवार को बरी करने के फैसले के खिलाफ सीबीआई की अपील पर सुनवाई के लिए सहमत है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में तलवार दंपति को नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने कहा कि सीबीआई की अपील पर तलवार दंपति के घरेलू सहायक हेमराज की पत्नी की अपील के साथ सुनवाई होगी। उल्लेखनीय है कि 12 अक्टूबर को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मामले में आरुषि के माता-पिता नूपुर तलवार और राजेश तलवार को बरी कर दिया था।हेमराज की पत्नी ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। याचिका में हेमराज की पत्नी खुमकला बंजाडे ने तलवार दंपति की रिहाई के फैसले को गलत बताया है। मालूम हो कि हेमराज तलवार परिवार का घरेलू नौकर था, जिसकी आरुषी के साथ ही हत्या कर दी गई थी। विशेष सीबीआई अदालत ने आरुषि और हेमराज की हत्या के मामले में तलवार दंपति को 26 नवंबर, 2013 को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी लेकिन इलाहाबाद हाईकोर्ट ने तलवार दंपति को यह कहकर बरी कर दिया कि रिकॉर्ड साक्ष्यों के आधार पर उन्हें दोषी नहीं ठहराया जा सकता।

16 मई 2008 को आरुषी की हत्या कर दी गई थी और इसके एक दिन बाद नौकर हेमराज का शव तलवार दंपति के घर की ही छत पर मिला था। जिसके बाद तलवार दंपति पर हत्या की सूई घूमी थी।

 

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े