उपेंद्र कुशवाहा के एनडीए छोड़ने और बीजेपी की तीन प्रदेशों में हार के बाद राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में असंतोष उभरने के संकेत मिल रहे हैं. मंगलवार की देर शाम 8.02 और 8.14 मिनट पर एलजेपी सांसद चिराग पासवान के किए गए दो ट्वीट्स ने इसे और पुख्ता कर दिया है.

 

पहले ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'टीडीपी और रालोसपा के एनडीए से जाने के बाद गठबंधन नाज़ुक मोड़ से गुज़र रहा है. ऐसे समय में भारतीय जनता पार्टी गठबंधन में फ़िलहाल बचे हुए साथियों की चिंताओं को समय रहते सम्मानपूर्वक तरीक़े से दूर करे.'

 

टी॰डी॰पी॰ व रालोसपा के एन॰डी॰ए॰ गठबंधन से जाने के बाद एन॰डी॰ए॰ गठबंधन नाज़ुक मोड़ से गुज़र रहा है।ऐसे समय में भारतीय जनता पार्टी गठबंधन में फ़िलहाल बचे हुए साथीयों की चिंताओं को समय रहते सम्मान पूर्वक तरीक़े से दूर करें।

 

वहीं, उन्होंने दूसरा ट्वीट कुछ-कुछ धमकी भरे अंदाज में किया और लिखा, 'गठबंधन की सीटों को लेकर कई बार भारतीय जनता पार्टी के नेताओं से मुलाकात हुई. लेकिन, अभी तक कुछ ठोस बात आगे नहीं बढ़ पाई है. इस विषय पर समय रहते बात नहीं बनी तो इससे नुकसान हो सकता है.'

 

जाहिर है चिराग पासवान का ये बयान सीट शेयरिंग में ज्यादा हिस्सेदारी को लेकर किया गया है. कुशवाहा का एनडीए से जाना और तीनों प्रदेशों में मिली हार के बाद एनडीए के भीतर ये उथल-पुथल आगे क्या गुल खिलाता है यह देखना दिलचस्प होगा.

 

बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले लोकजनशक्ति पार्टी सीटों पर स्थिति साफ कर लेना चाहती है, लेकिन बीजेपी अभी तक इस मामले में चुप्पी साधे हुए है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पहले ही साफ कह चुके हैं कि बिहार में बीजेपी और नीतीश कुमार की पार्टी जदयू बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेंगीं. ऐसे में लोकजनशक्ति पार्टी के लिए सीटें कम होना तय है.

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े