अमेरिका ने शिनजियांग प्रांत में उइगरों और अन्य मुस्लिम अल्पसंख्यकों के साथ चीन के आचरण के खिलाफ संयुक्त रूप से कदम उठाने में मुस्लिम राष्ट्रों की विफलता पर निराशा व्यक्त की है। विदेश मंत्रालय के ऑफिस ऑफ ग्लोबल क्रिमिनल जस्टिस की प्रमुख तथा अमेरिकी राजदूत केली क्यूरी ने कहा, ‘‘मैं यह कह सकती हूं कि घटना को लेकर ओआईसी (इस्लामिक सहयोग संगठन) के सदस्यों की तरफ से समुचित प्रतिक्रिया न मिलने और मुखरता से विरोध नहीं किये जाने को लेकर हमें निराशा हुई।’’ क्यूरी ने जिनेवा स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में अमेरिका-प्रायोजित एक कार्यक्रम से पहले संवाददाताओं से यह बात कही। यह कार्यक्रम चीन के अशांत शिनजियांग प्रांत में उइगरों की कथित सामूहिक नजरबंदी की घटना पर केंद्रित था।उनकी टिप्पणी ऐसे समय में आयी है जब अमेरिका ने अपनी वार्षिक मानवाधिकार रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘चीन ने शिनजियांग में मुस्लिम अल्पसंख्यक समूहों के सदस्यों को सामूहिक हिरासत में लेने का अपना अभियान तेज कर दिया है।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े