वर्ल्ड कप-2019 के मद्देनजर भारतीय टीम के चयन के लिए एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय चयन समिति सोमवार को मुंबई में बैठक करेगी. चयन समिति जब 15 सदस्यीय टीम का चयन करेगी, तब चयनकर्ताओं के सामने तीन ऐसे क्षेत्र होंगे जिसका कि वह हल निकालना चाहेंगे. आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 (ICC Cricket World Cup 2019) का आगाज 30 मई को होगा. इस बार मेजबानी का जिम्मा इंग्लैंड और वेल्स का है.

इनमें से सबसे ज्यादा चर्चा का विषय नंबर-4 का स्थान है. दूसरा ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक में से कौन विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी का विकल्प होगा. इसके अलावा कौन चौथा अतिरिक्त तेज गेंदबाज होगा.

विश्व कप के लिए भारतीय टीम में नंबर-4 के स्थान के लिए अंबति रायडू, केएल राहुल और अजिंक्य रहाणे और श्रेयस अय्यर को लेकर काफी बातें की जा रही हैं. ऐसा भी हो सकता है कि टीम प्रबंधन विजय शंकर को नंबर चार उतार सकता है और राहुल को उनके विकल्प के तौर पर टीम में रख सकते हैं.

पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर का मानना है कि राहुल किसी भी नंबर पर बल्लेबाजी कर सकते हैं और आईपीएल में उनके हालिया फॉर्म को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है. पूर्व भारतीय ओपनर गौतम गंभीर ने केरल के बल्लेबाज संजू सैमसन का नंबर चार के लिए समर्थन किया है.

टीम प्रबंधन ने यह स्पष्ट कर दिया है कि राहुल को तीसरे सलामी बल्लेबाज के रूप में प्राथमिकता दी जाएगी. वह केवल सलामी बल्लेबाज के बैक-अप के रूप में टीम में आएंगे, न कि चार नंबर के बल्लेबाज के रूप में.

विजय शंकर ने आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए नंबर तीन या चार पर बल्लेबाजी जारी रखी है. इसका मतलब यह भी है कि श्रेयस अय्यर और अजिंक्य रहाणे नंबर चार के समीकरण से बाहर होंगे.

बाकी बल्लेबाजों शिखर धवन और रोहित शर्मा पारी की शुरुआत करने के लिए होंगे. उसके बाद कप्तान विराट कोहली, महेंद्र सिंह धोनी और केदार जाधव हैं. हार्दिक पंड्या हरफनमौला खिलाड़ी के रूप में फिट बैठते हैं और उन्हें फिनिशर के रूप में भी देखा जाएगा.

नंबर-4 के अलावा टीम में दूसरे विकेटकीपर के स्थान को भी चयनकर्ताओं को हल करने की जरूरत है. चयनकर्ताओं को यह तय करना होगा कि उन्हें दिनेश कार्तिक या ऋषभ पंत में से किसे धोनी के विकल्प के रूप में चुनना है.

पंत को एक्स-फैक्टर के रूप में देखा जाता है, जिन्हें तेज तर्रार पारी के लिए जाना जाता है. वहीं कार्तिक को एक अनुभवी बल्लेबाज माना जाता है और जो विश्व कप जैसे बड़े टूर्नामेंट में शांत रहने में सक्षम हैं.

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े