मशहूर फिल्म अभिनेता जीतेंद्र के खिलाफ यौन उत्पीड़न मामले में बुधवार को शिमला हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। इस मामले में पुलिस स्टेटस रिपोर्ट पेश नहीं कर पाई। अतिरिक्त एडवोकेट जनरल ने इस मामले में स्टेटस रिपोर्ट पेश करने के लिए कोर्ट से अतिरिक्त समय दिए जाने की गुहार लगाई।

न्यायाधीश अजय मोहन गोयल ने मामले की अगली सुनवाई चार जुलाई तक समय तय करते हुए इस दिन पुलिस को ताजा स्टेटस रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया। पीड़िता जो जीतेंद्र की रिश्तेदार है, उनकी ओर से कोर्ट में दो वकील पेश हुए।

पिछली सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने जीतेंद्र के खिलाफ दर्ज यौन उत्पीड़न मामले में आगामी जांच पर फिलहाल रोक लगाते हुए इस मामले में पुलिस द्वारा की गई जांच की प्रगति रिपोर्ट अगली सुनवाई में पेश करने को कहा था। इसी साल 16 फरवरी को महिला पुलिस थाना शिमला में जीतेंद्र के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुई थी। उनकी रिश्तेदार ने 47 साल पहले जीतेंद्र द्वारा यौन उत्पीड़न करने के आरोप लगाए हैं।

पीड़िता ने इसकी शिकायत पुलिस महानिदेशक को ईमेल के जरिये की थी शिकायतकर्ता उस समय 18 साल की व जीतेंद्र 28 साल के थे। पीड़िता के अनुसार जीतेंद्र उस समय उनके घर आए थे और अचानक उन्हें किसी फिल्म की शूटिंग के लिए शिमला जाना पड़ा, जहां वह भी साथ गई थीं।

उसने आरोप लगाया कि जीतेंद्र ने नशे में शिमला के एक होटल में उसका यौन उत्पीड़न किया। पीड़िता ने कहा था कि माता-पिता के रहते वह चुप रही थीं। माता-पिता की मौत के बाद उन्होंने इस मामले को उठाया है

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े