उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल दृढ़ता और राष्ट्र प्रेम के प्रतीक थे तथा उनमें राष्ट्र प्रेम कूट-कूट कर भरा हुआ था। मौर्य ने सरदार पटेल की 143वीं जयतीं को एकता दिवस के रूप में मनाते हुए भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश की 403 विधानसभाओं में ‘रन फॉर यूनिटी’ का प्रतापपुर विधानसभा के छतौना ग्राम में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल दृढ़ता और राष्ट्र प्रेम के प्रतीक थे उनमें राष्ट्र प्रेम कूट-कूट कर भरा हुआ था। जिस अदम्य उत्साह असीम शक्ति से उन्होंने नवजात गणराज्य की प्रारंभिक कठिनाइयों का समाधान किया उसके कारण विश्व के राजनीतिक मानचित्र में उन्होंने अमिट स्थान बना लिया।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत की स्वतंत्रता संग्राम में उनका महत्वपूर्ण योगदान था। सरदार पटेल को भारत का लौह पुरुष कहा जाता है। गृह मंत्री बनने के बाद भारतीय रियासतों के विलय की जिम्मेदारी उनको ही सौंपी गई थी। उन्होंने अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए 600 छोटी बड़ी रियासतों का भारत में विलय कराया। उन्होंने पटेल द्वारा किए इस पुनीत कार्य को राष्ट्रहित में बड़ी उपलब्धि बताई।

कार्यक्रम में गंगापार अध्यक्ष अमरनाथ तिवारी ने कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल देश की रियासतों को जोड़ने के प्रणेता थे। आज 130 करोड़ भारतीय नए भारत का निर्माण करने के लिए कंधे से कंधा मिलाकर कार्य कर रहे हैं जो मजबूत समृद्ध और समग्र होगा।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े