उत्तर प्रदेश के संत कबीरनगर से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद शरद त्रिपाठी ने अपनी ही पार्टी के विधायक राकेश बघेल को जूते से पीट दिया. बीजेपी नेताओं के मारपीट के इस मामले ने विपक्ष को बैठ-बिठाए एक मुद्दा दे दिया है. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस पूरे मामले पर तंज कसा है. उन्होंने कहा कि उप्र में विश्व की सबसे अनुशासित राजनीतिक पार्टी का दावा करनेवाली भाजपा के सांसद व विधायक के मध्य जूतों का सादर आदान-प्रदान हुआ.

उन्होंने आगे कहा कि यह आगामी चुनावों में अपनी हार से आशंकित भाजपा की हताशा है. सच तो ये है कि लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए भाजपा को प्रत्याशी ही नहीं मिल रहे हैं. अखिलेश ने कहा कि जनता जनार्दन पहचान लो यही है भाजपा का असली चाल चरित्र चेहरा. चुनाव मे ऐसे नेता और ऐसी पार्टी को सबक़ सिखाने का तत्काल अवसर आप को मिला है.

बता दें कि बुधवार को एक कार्यक्रम के दौरान बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी और विधायक राकेश बघेल के बीच जमकर मारपीट हुई थी. इस दौरान बीजेपी सांसद त्रिपाठी ने विधायक बघेल को जूतों से जमकर पीटा था. इस कार्यक्रम में संत कबीरनगर के जिलाधिकारी और योगी सरकार में मंत्री आशुतोष टंडन भी मौजूद रहे.

समाजवादी पार्टी ही नहीं कांग्रेस भी इस मुद्दे पर बीजेपी को घेरने में देरी नहीं की. कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट किया कि भाजपा के सांसद और विधायक अपनी सभ्यता और संस्कृति का परिचय देते हुए. वहीं, जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी इस घटना पर तंज कसा. महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया कि मेरा बूथ सबसे मजबूत से मेरा जूता सबसे मजबूत.

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े