बिहार के 18 जिलों में आई भीषण बाढ़ में राहत एवं बचाव कार्य युद्ध स्तर पर जारी रहने के बीच अब तक इसमें 253 लोगों की मौत हो चुकी है वहीं कुल एक करोड़ 27 लाख प्रभावित हुए हैं। राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि गंगा समेत राज्य की नौ प्रमुख नदियों के अभी भी खतरे के निशान से ऊपर होने के कारण 18 जिलों पूर्णिया, किशनगंज, अररिया, कटिहार, मधेपुरा, सुपौल, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, दरभंगा, मधुबनी, सीतामढ़ी, शिवहर, मुजफरपुर, गोपालगंज, सहरसा, खगडिय़ा, सारण एवं समस्तीपुर में आई बाढ़ में अब तक 253 लोगों की मौत हो चुकी है। 

बाढ़ की इस विभीषिका में सबसे अधिक 57 लोगों की मौत अररिया जिले में हुई है। वहीं, मृतकों की सख्या सीतामढ़ी में 31, पश्चिम चंपारण में 29, कटिहार में 23, पूर्वी चंपारण में 19, मधुबनी, सुपौल एवं मधेपुरा में 13-13, दरभंगा में 10, किशनगंज में 11, पूर्णिया में नौ, गोपालगंज में आठ, शिवहर, मुजफ्फरपुर एवं सहरसा में चार-चार, खगड़यिा में तीन और सारण में दो पर पहुंच गई।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े