भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने नया सैटेलाइट तैयार किया है। यह भारत में तैयार अब तक का सबसे वजनी सैटेलाइट है। लगभग छह टन वजन वाला यह एक संचार सैटेलाइट है, जिसे जीसैट-11 नाम दिया गया है। बताया जाता है कि लांच होने के बाद यह सैटेलाइट मोदी सरकार के 'डिजिटल इंडिया' अभियान को तेज रफ्तार देगा। जीसैट-11 काफी बड़ा सैटेलाइट है, जिसका हर सौर पैनल 4 मीटर से भी बड़ा है और यह 11 किलोवाट ऊर्जा का उत्पादन करेगा।

जीसैट-11 की कुल लागत 1117 करोड़ रुपए है। इसका वजन 5.6 टन है। उम्मीद जताई जा रही है कि, इस उपग्रह को जनवरी के अंत तक लांच कर लिया जाएगा। यह इंटरनेट सेवाएं देने वाला देश का पहला सैटेलाइट होगा और ऐसा माना जाता है कि भारत में सैटेलाइट आधारित इंटरनेट सेवाओं के विस्तार में इससे क्रांतिकारी बदलाव आएगा। इसे फ्रेंच गुयाना से यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी के एरियान-5 रॉकेट के जरिए लांच किया जाएगा।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े