यूनाइटेड स्टेट्स आर्म्ड फोर्सिस की ब्रांच US मरीन कॉर्प्स के लिए एक ऐसा ACV (एम्फिबियोस कॉम्बैट व्हीकल) बनाया गया है जो सैनिकों को मिशन के दौरान काफी मदद करेगा। एयरोस्पेस कम्पनी BAE सिस्टम्स द्वारा तैयार किए गए इस व्हीकल के प्रोजैक्ट पर 1.2 बिलीयन डॉलर खर्च किए जाएंगे और कुल मिला कर 204 व्हीकल्स को बनाने की कम्पनी की योजना है।  BAE सिस्टम द्वारा ACV को खास तौर पर 13 सैनिकों को ब्लास्ट रजिस्टैंट कैबिन में लाने ले जाने के लिए बनाया गया है। 

 

आधुनिक तकनीक से लैस है ACV

इस 8x8 व्हीकल में 6 सिलैंडर इंजन लगा है जो 700 bhp (522 kW) की पावर पैदा करता है और इसका वजन 30,617 किलोग्राम है। 

यह व्हीकल 3,302 किलोग्राम के वजन को उठा कर आसानी से सफर तय कर सकता है। 

- इसे 105 किलोमीटर प्रति घंटा की टॉप स्पीड से चलाया जा सकता है। 

- 89 km/h की रफ्तार पर अगर इसे चलाया जाए तो एक बार में 523 किलोमीटर तक की यात्रा को तय किया जा सकता है।

 

BAE सिस्टम्स में कॉम्बैट व्हीकल्स एम्फिबियस और इंटरनैशनल के जनरल मैनेजर और वाइस प्रैसिडेंट डीन मैडलेंड ने कहा है कि हम अमरीकी मरीन कोप्स के लिए अब तक 16 प्रोटोटाइप्स बना चुके हैं। हम मरीन कोप्स को मिशन में सपोर्ट करने के लिए बैस्ट इन क्लास व्हीकल्स बना रहे हैं जो सर्वेलेंस करने में भी मदद करेगी।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े