लखनऊ, 5 नवम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, राजेन्द्र नगर (द्वितीय कैम्पस) द्वारा ‘फैमिली यूनिटी डे’ समारोह का भव्य आयोजन सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर विद्यालय के छात्रों ने रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की इन्द्रधनुषी छटा बिखेरकर अभिभावकों को मंत्रमुग्ध कर दिया, साथ ही पारिवारिक एकता एवं जीवन मूल्यों से परिपूर्ण ईश्वरीय वातावरण को सुदृढ़ करने का जोरदार संदेश दिया। इससे पहले, दीप प्रज्वलन समारोह के साथ समारोह का विधिवत् शुभारम्भ हुआ। सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी व डा. (श्रीमती) भारती गाँधी, मिस यूपी अवार्ड से सम्मानित सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (द्वितीय कैम्पस) की पूर्व छात्रा तान्या वर्मा, प्रधानाचार्या श्रीमती शिप्रा उपाध्याय व अन्य गणमान्य हस्तियों ने दीप प्रज्वलन कर पारिवारिक एकता का संदेश दिया। 

समारोह का शुभारम्भ ‘स्कूल प्रार्थना’, ‘सर्वधर्म प्रार्थना’ एवं ‘विश्व एकता प्रार्थना’ से हुआ, जिसमें सम्पूर्ण ऑडिटोरियम को आध्यात्मिक उल्लास से सराबोर कर दिया एवं एकता, शान्ति, सहयोग व सौर्हाद का जयघोष किया। इसके उपरान्त छात्रों ने गीत-संगीत की शानदार प्रस्तुतियों से अभिभावकों की वाहवाही लूटी तो वहीं दूसरी ओर लघु नाटिका, एक्शन सांग, लोकगीत, नर्सरी राइम आदि अनेकानेक प्रस्तुतियों से अपनी कलात्मक प्रतिभा का जोरदार प्रदर्शन किया। समारोह का खास आकर्षण यह रहा कि इसमें छात्रों के अभिभावकों के साथ ही उनके दादा-दादी व नाना-नादी ने बड़ी संख्या में अपनी उपस्थिति दर्ज करायी और बच्चों को उत्साहवर्धन किया। 

इस अवसर पर अपने सम्बोधन में सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने इस अवसर कहा कि विश्व शान्ति, विश्व एकता एवं वसुधैव कुटुम्बकम् के विचारों को बचपन से ही प्रत्येक बालक को देने की आवश्यकता है। अतः सी0एम0एस0 द्वारा ऐसे प्रयास किये जा रहे हैं जिससे कि प्रत्येक बालक को घर व विद्यालय दोनों जगह विश्व एकता एवं विश्व शान्ति के विचार मिल सके। उन्होंने आगे कहा कि इस तरह के आदान-प्रदान कार्यक्रमों से निकट भविष्य में भावी पीढ़ी में विश्व एकता एवं विश्व बन्धुत्व की भावना के विकास द्वारा वसुधा कुटुम्ब का स्वप्न साकार करने में सहायता मिलेगी। 

सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (द्वितीय कैम्पस) की प्रधानाचार्या श्रीमती शिप्रा उपाध्याय ने बच्चों की प्रतिभा की प्रशंसा करते हुए कहा कि अभिभावकों के सहयोग की बदौलत ही यह कार्यक्रम अभूतपूर्व सफल रहा है। अभिभावक ही बालक में निहित प्रतिभा को विकसित करने का सुअवसर प्रदान करते हैं। सी.एम.एस. में ऐसे प्रयास किये जा रहे है जिससे बच्चों को सर्वांगीण विकास हो सके और वे टोटल क्वालिटी पर्सन बनकर समाज के रचनात्मक विकास में योगदान दे सकें। 

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े