लखनऊ, 26 मार्च। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) एवं राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस) द्वारा आयोजित ‘डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स’ में विद्यालय के छात्रों ने अपनी बाल सुलभ प्रतिभा से दर्शकों का दिल जीत लिया एवं बच्चों की बहुमुखी प्रतिभा देखकर अभिभावक गद्गद् हो उठे। सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) द्वारा सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) आॅडिटोरियम में आयोजित ‘डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स’ में विद्यालय के छात्रों ने अपनी कलात्मक व बहुमुखी प्रतिभा का जोरदार प्रदर्शन कर सभी कोआश्चर्यचकित कर दिया तो वहीं दूसरी ओर सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस) द्वारा सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में उल्लासपूर्ण माहौल में आयोजित डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स में छात्रों की नृत्य व गायन प्रतिभा देखते ही बनती थी।

            सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) द्वारा आयोजित ‘डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स’ का शुभारम्भ सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी द्वारा दीप प्रज्वलन से हुआ। इस अवसर पर अपने संबोधन में डा. गाँधी ने कहा कि जीवन मूल्यों पर आधारित शिक्षा छात्रों का जीवन पर्यन्त साथ देती है। हमें बालक को जड़ से मजबूत बनाना है और इसके लिए जीवन मूल्यों की शिक्षा देनी होगी। उन्होंने अभिभावकों के सहयोग के प्रति हार्दिक धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि प्रत्येक बच्चा परमात्मा का उपहार है और हमारा पूर्ण प्रयास है कि हर बच्चा समाज का प्रकाश बनें।

            इस अवसर पर विद्यालय के छात्रों ने विभिन्न धर्मों में दिए आदर्श विचारों को अभिभावकों के समक्ष रखा और दिखाया कि सभी धर्म एक ही ईश्वर के पास पहुंचने के अलग-अलग रास्ते हैं। छात्रों की प्रतिभा व प्रवाहपूर्ण अभिव्यक्ति से अभिभावक गदगद नजर आये। सर्व-धर्म व विश्व शान्ति प्रार्थना, वल्र्ड पार्लियामेन्ट, लोकनृत्य, समूह गान, कव्वाली आदि विभिन्न कार्यक्रमों में छात्रों ने बड़े उत्साह से अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर सबका मन मोह लिया। इसके साथ ही, विभिन्न प्रतियोगिताओं में सर्वोच्चता अर्जित करने वाले छात्रों व वार्षिक परीक्षाओं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को भी पुरष्कृत कर सम्मानित किया गया।

            इसके अलावा, सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस) द्वारा डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स का आयोजन सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में किया गया। इस अवसर पर छात्रों ने ईश्वर भक्ति से परिपूर्ण अपने गीत-संगीत के माध्यम से ईश्वरीय एकता का ऐसा आलोक बिखेरा कि दर्शक व अभिभावक मंत्रमुग्ध हो गये। विद्यालय के छात्रों ने अपने अभिभावकों के समक्ष न सिर्फ अपने ज्ञान का अपितु विद्यालय द्वारा प्रदान की जा रही नैतिक व

आध्यात्मिक शिक्षा से परिपूर्ण ज्ञान का उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। इस अवसर पर विभिन्न प्रतियोगिताओं में सर्वोच्चता अर्जित करने वाले छात्रों व वार्षिक परीक्षाओं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को भी पुरष्कृत कर सम्मानित किया गया। समारोह में बोलते हुए सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस) की प्रधानाचार्या सुश्री दीपा तिवारी ने कहा कि संचार एवं सूचना क्रान्ति ने शिक्षा को विश्वव्यापी स्वरूप प्रदान किया है। ऐसे में वर्तमान परिवेश में आध्यात्मिक शिक्षा सबसे ज्यादा जरूरी है तथापि नैतिक, चारित्रिक व आध्यात्मिक शिक्षा ही नयी पीढ़ी का दिशा-निर्देशन करेगी। इस लक्ष्य को हासिल करने हेतु सिटी मोन्टेसरी स्कूल ने जरूरी कदम उठाया है और आध्यात्मिक शिक्षा प्रदान कर बच्चों को नैतिक बल प्रदान कर रहा है।

 

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े