आज 27 अक्टूबर शनिवार को धूम-धाम के साथ करवा चौथ का पर्व मनाया जा रहा है। आज का दिन बहुत सारे शुभ योग लेकर आया है। विद्वानों का कहना है इस बार करवाचौथ पर राजयोग बनेगा। सोने पर सुहागे का काम करेगा सर्वार्थसिद्धि और अमृतसिद्धि योग। तीन शुभ योगों के एकसाथ आने से करवाचौथ की पूजा शुभ मुहूर्त में होगी। राजयोग आज से पहले 2007 में बना था। सुहागन महिलाओं के लिए ये दिन बहुत खास होता है। सती सावित्री ने अपने तप के बल पर अपने पति सत्यवान को यमराज के चुंगल से छुड़वाया था और सदा सुहागन रहने का वर मांगा था। वैसे तो यह व्रत शादीशुदा महिलाओं के लिए होता है लेकिन कुंवारी लड़कियां भी मनचाहे वर की प्राप्ति के लिए यह व्रत करती हैं। सूर्योदय से पहले उठकर सरगी खाकर इस व्रत का आरंभ किया जाता है, सारा दिन निर्जल निराहार रहकर रात को चांद देखकर उसे अर्घ्य देने के बाद व्रत पूरा होता है। 

करवा चौथ मुहूर्त-
करवा चौथ पूजा मुहूर्त: 5:40 से 6:47 तक
करवा चौथ चंद्रोदय समय : शाम 7:55 मिनट

चंद्रोदय का संभावित समय   
कुल्लू, मनाली, शिमला : 7.54 बजे, ऊना : 7.55, यमुनानगर, जगाधरी, चम्बा, कांगड़ा, धर्मशाला : 7.56, दिल्ली, चंडीगढ़, मोहाली, पंचकूला : 7.58, पटियाला, ऊधमपुर : 7.59, जम्मू, लुधियाना, फगवाड़ा, पठानकोट, गुरदासपुर : 8.00, जालंधर, कपूरथला, रोहतक : 8.01, अमृतसर : 8.03 तथा फिरोजपुर : 8.05 बजे। 

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े