प्रकृति की गोद में अजीबोगरीब रहस्य छुपे है। इन रहस्यों में कुछ ऐसे है जिनके आगे विज्ञान भी हैरान हो जाती है। वैसे प्रकृति की बात हो रही है तो आपको आज एक अद्भुत फूल के बारे में बताने जा रहे है जिसके बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे। 

 

वैसे तो हमसभी ने कई तरह के फूल देखे है जो दिन में खिलते हैं या फिर सूर्य की रौशनी में खिल पाए हैं। लेकिन एक कमल ऐसा है जो रात के समय ही खिलता है। 

 

जिसकी हम बात कर रहे हैं वह कमल आधी रात के बाद ही खिलता है इसलिए इसे खिलते देखना स्वप्न समान माना जाता है। लेकिन कहा जाता है कि अगर इसे खिलते समय देख कर कोई कामना की जाए तो वो जल्दी ही पूरी होती है।

 

आपको बता दें, ब्रह्मकमल ब्रम्हकमल का अर्थ है ब्रम्हा का कमल। इसे मां नंदा का प्रिय पुष्प माना जाता है। इसके पीछे एक कहानी है।

 

जब पांडव अज्ञातवास पर गए तो द्रौपदी उनके साथ थीं। द्रौपदी मानसिक रूप से बेहद अशांत थीं क्योंकि वह कौरवों द्वारा मिले अपमान के आघात से अत्यंत दुखी थीं। घने जंगल के कष्टों से वह और भी परेशान थीं। इसी दौरान एक संध्या को उन्होंने झरने के पानी में एक सुंदर सुनहरा कमल बहते देखा।

 

द्रौपदी के सामने ही वह कमल खिल गया। इसे देख कर द्रौपदी बहुत प्रसन्न हुईं। अचानक कमल जैसे खिला था, वैसे ही मुरझा भी गया। यह एक संकेत था कि द्रौपदी के दुखों का यहीं अंत नही था। इस कहानी से इस कमल को रहस्यमय कहा जा सकता है जो भविष्य का संकेत देता है।

 

कहा जाता है इससे बुरी आत्माएं भी दूर भागती हैं। ये पुष्प केवल साल में एक बार ही एक रात के लिए खिलता है। आधी रात तक ये पूरा खिल जाता है और सुबह तक मुरझा जाता है। ब्रम्हकमल का जीवन सिर्फ से 5 से 6 माह ही होता है। धार्मिक मान्यता के चलते लोगों की इसमें खासी आस्था है।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े