मेकअप की शुरूआत में अगर फेस प्राइमर का इस्तेमाल न किया जाए तो इससे वह लुक नहीं मिलता, जो वास्तव में मिलना चाहिए। फेस प्राइमर न सिर्फ मेकअप को लॉन्ग लास्टिंग बनाता है, बल्कि इससे मेकअप को एक फिनिश लुक भी मिलता है। इतना ही नहीं, इसके इस्तेमाल से अन्य भी कई तरह के लाभ मिलते हैं। लेकिन बहुत-सी महिलाओं की शिकायत होती है कि उन्हें प्राइमर का सही तरह से इस्तेमाल करना नहीं आता। तो चलिए जानते हैं इसके लाभ व इस्तेमाल के तरीकों के बारे में−फेस प्राइमर का इस्तेमाल मेकअप के बेस के रूप में किया जाता है। इसके इस्तेमाल से पहले स्किन को किसी माइल्ड क्लींजर या फिर फेस वॉश की मदद से साफ करें। इसके बाद फेस को सूखने दें और फिर मॉइश्चराइज करें। इससे स्किन की नमी को रिस्टोर करने में मदद मिलती है। इसके बाद बारी आती है फेस प्राइमर की। फेस प्राइमर को पहले चेहरे के उन स्थानों पर लगाएं, जहां पर मेकअप ज्यादा देर टिकता नहीं है। इसके बाद पूरे फेस पर अप्लाई करें और स्किन को उसे अब्जार्ब करने दें। अंत में फाउंडेशन लगाएं। आपका फेस अब मेकअप के लिए पूरी तरह तैयार है। इसके बाद आई मेकअप व लिप मेकअप किया जा सकता है।फेस प्राइमर लगाने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह आपके मेकअप को फ्रेश लुक देता है। इसके साथ−साथ इसकी मदद से चेहरे की झुर्रियां व महीन रेखाएं नजर नहीं आती। जबकि अन्य मेकअप प्रॉडक्ट का इस्तेमाल करने से महीन रेखाएं उभर कर सामने आती हैं। इससे मेकअप को फिनिशिंग व स्मूद लुक मिलता है। साथ ही यह एक प्रोटेक्टिव लेयर की तरह होता है जिससे मेकअप लॉन्ग लास्टिंग बनता है। इसलिए अगर आप कहीं ऐसी जगह जा रही हैं, जहां पर आपको लंबे समय तक रूकना है तो बेहतर होगा कि फेस प्राइमर का इस्तेमाल किया जाए।यूं तो मार्केट में कई तरह के फेस प्राइमर मौजूद हैं लेकिन यह काफी महंगे होते हैं। साथ ही अगर आपको स्वयं के लिए परफेक्ट फेस प्राइमर चुनने में परेशानी हो रही है तो आप घर पर भी फेस प्राइमर तैयार कर सकती हैं। इसके लिए सबसे पहले एक चम्मच वर्जिन नारियल तेल लेकर उसे धीमी आंच पर गर्म करें और फिर ठंडा होने दें। नारियल तेल के रूम टेंपरेचर में आ जाने के बाद में इसमें एक तिहाई कप एलोवेरा जेल मिक्स करें। अब इसमें थोड़ा−थोड़ा मिनरल पाउडर मिलाएं। आपका फेस प्राइमर तैयार है। बस इसे किसी कंटेनर में स्टोर करके रखें और मेकअप की शुरूआत में इसका इस्तेमाल करें।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े