बसपा मुखिया मायावती ने कांग्रेस के साथ अपने गठबंधन को बरकरार रखने का साफ संकेत देते हुए आज अपनी पार्टी के उपाध्यक्ष जय प्रकाश सिंह को पद से हटा दिया। जय प्रकाश सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बारे में विवादित बयान देते हुए कहा था कि वह विदेशी मूल की मां के बेटे हैं और उनका खून विदेशी है इसलिए वह कभी भी प्रधानमंत्री नहीं बन पाएंगे। उन्होंने कहा था कि राहुल गांधी कभी भी भारतीय राजनीति में सफल नहीं हो सकते। जय प्रकाश सिंह ने कहा था कि मायावती दलितों और वंचितों की रक्षक हैं और देश की अगली प्रधानमंत्री वही बनेंगी।विवाद बढ़ते ही मायावती ने ही तत्काल प्रेस कांफ्रेंस बुला कर इस बात का ऐलान किया कि जय प्रकाश सिंह के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें पद से हटा दिया गया है। उन्होंने कहा कि जय प्रकाश सिंह का बयान निजी है और इसका पार्टी से कोई लेना देना नहीं है। मायावती ने अपने पार्टी नेताओं को बयान देते वक्त सावधानी बरतने की भी सलाह दी है।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े