प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल कर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर भाजपा के निशाने पर आ गए हैं। वहीं पीएम ने इस बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि मणिशंकर अय्यर के अंदर मुगलों के संस्कार हैं इसलिए वह इस तरह की बातें करते हैं। देश के पीएम के लिए ऐसे शब्द का इस्तेमाल वो ही व्यक्ति कर सकता है जिसके संस्कारों में खोट हो। सूरत की रैली में पीएम ने कहा कि अय्यर का यह बयान गुजरात के संस्कारों का अपमान है। उन्होंने कहा कि मैं नीच जाति से हो सकता हूं लेकिन मैंने काम ऊंचे किए हैं। 

इसका जनता देगी जवाब  
पीएम ने कहा कि इसका जवाब जनता देगी और यह जवाब उन्हें बैलेट पेपर से मिलेगा। उन्होंने अय्यर पर हमला करते हुए कहा कि वह पहले भी ऐसे ही मेरा अपमान करते रहे हैं। जब मैं गुजरात का सीएम था तब भी उन्होंने मुझे मौत का सौदागर कहा था और जेल भेजना चाहते थे। वहीं भाजपा नेता शाजिया इल्मी ने ट्वीट कर लिखा कि मणिशंकर अय्यर की भयानक टिप्पणी। वह कैसे किसी को भी नीच कह सकते हैं? शर्मनाक! 

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े