आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा कि अक्तूबर- दिसंबर तिमाही में 7.2 प्रतिशत की वृद्धि दर से देश में सबसे तेजी से वृद्धि दर वाले दायरे में आ गया है तथा आने वाले दिनों में सुधार और भी तीव्र होगा। तीसरी तिमाही में 7.2 प्रतिशत की वृद्धि दर 5 तिमाहियों में सबसे अधिक रही। इससे पहले जुलाई सितंबर 2016-17 में यह 7.5 प्रतिशत रही थी। मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में वृद्धि दर 5.7 प्रतिशत  रही।      

गर्ग ने एक कार्यक्रम के अवसर पर कहा, "हम पहले ही कह चुके हैं कि वित्त वर्ष 2018  की पहली तिमाही से हम निम्नतम स्तर से उठना शुरू हो गए और हम बहुत तेज वृद्धि दर्ज करेंगे। दूसरी व तीसरी तिमाही ने इसका प्रमाण दे दिया।" उन्होंने कहा तीसरी तिमाही में 7.2  प्रतिशत की वृद्धि दर ने हमें दुनिया के सबसे तेज वृद्धि वाले दायरे में ला दिया। मुझे तीव्र वृद्धि आगे जारी नहीं रहने का कोई कारण नजर नहीं आ रहा। मैं अभी दहाई अंक की वृद्धि की बात नहीं कर रहा लेकिन निश्चित रूप से बहुत मजबूत वृद्धि होगी।  

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े